पार कविता नरेश सक्सेना

इस कविता विडियो में पार कविता का पाठ स्वयं कवि नरेश सक्सेना द्वारा किया गया है। पार कविता एक मांत्रिक कविता है। इसका असर एक मंत्र की तरह आप पर पड़ेगा। कवि परिचय कविता संग्रह : समुद्र पर हो रही थी बारिश, सुनो चारुशीला जन्म : 16 जनवरी 1939, ग्वालियर (मध्य प्रदेश) भाषा : हिंदी विधाएँ : कविता, नाटक, पटकथा … Continue reading पार कविता नरेश सक्सेना